Jio Financial Services Share Price Target 2030 | जियो फाइनेंशियल शेयर प्राइस टारगेट 2030

जियो फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड – Jio Financial Services Limited

शेयर बाजार में वित्तीय सेवा क्षेत्र की कंपनी jio फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड के भविष्य के बारे में जानकारी प्राप्त करने से पहले, 2023, 2024, 2026, 2030 के लिए jio फाइनेंशियल सर्विसेज स्टॉक मूल्य लक्ष्य क्या हैं? वे किसके बारे में जानकारी प्राप्त करने जा रहे हैं? निशाना बनाया जा सकता है.

Jio Financial Services Share कंपनी की जानकारी

जियो फाइनेंशियल सर्विसेज (JFS) रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) की सहायक कंपनी है जो भारत में डिजिटल वित्तीय समाधान प्रदान करती है। जेएफएस को जुलाई 2023 में आरआईएल से अलग कर दिया गया और 21 अगस्त, 2023 को स्टॉक एक्सचेंजों में सूचीबद्ध किया गया।

जेएफएस भुगतान, ऋण, बीमा, धन प्रबंधन और ब्रोकिंग जैसे विभिन्न क्षेत्रों में काम करता है। JFS का लक्ष्य भारतीय उपभोक्ताओं को सरल, सस्ती और नवीन वित्तीय सेवाएं प्रदान करने के लिए RIL और उसके Jio, JioMart, JioSaavn और JioCinema जैसे डिजिटल प्लेटफार्मों की तकनीकी क्षमताओं का लाभ उठाना है।

जेएफएस का आरआईएल में एक मजबूत आधार है, जो ऊर्जा, पेट्रोकेमिकल्स, दूरसंचार, खुदरा और मीडिया में रुचि रखने वाले भारत के सबसे बड़े और सबसे विविध समूहों में से एक है। आरआईएल ने अपनी डिजिटल शाखा जियो प्लेटफॉर्म्स में गूगल, फेसबुक, इंटेल, क्वालकॉम और सिल्वर लेक जैसे वैश्विक प्रौद्योगिकी दिग्गजों से भी महत्वपूर्ण निवेश आकर्षित किया है।

ये रणनीतिक साझेदारियां जेएफएस को इन वैश्विक खिलाड़ियों की विशेषज्ञता और नेटवर्क का लाभ उठाने और अपने उत्पाद की पेशकश और ग्राहक पहुंच को बढ़ाने में मदद करेंगी। जेएफएस का भारत में भी एक बड़ा और बढ़ता ग्राहक आधार है, जो दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ती डिजिटल अर्थव्यवस्थाओं में से एक है।

बोस्टन कंसल्टिंग ग्रुप (बीसीजी) और गूगल की एक रिपोर्ट के अनुसार, भारत का डिजिटल भुगतान बाजार 2019 में 65 अरब डॉलर से बढ़कर 2025 तक 500 अरब डॉलर तक पहुंचने की उम्मीद है, जो 27% की चक्रवृद्धि वार्षिक वृद्धि दर (सीएजीआर) का प्रतिनिधित्व करता है। इसी तरह, भारत का डिजिटल ऋण बाजार 2019 में 75 बिलियन डॉलर से बढ़कर 2023 तक 350 बिलियन डॉलर होने का अनुमान है, जो 48% सीएजीआर का प्रतिनिधित्व करता है।

इसके अलावा, भारत का ऑनलाइन बीमा बाजार 2019 में 3.5 बिलियन डॉलर से बढ़कर 2025 तक 37 बिलियन डॉलर होने का अनुमान है, जो 60% सीएजीआर का प्रतिनिधित्व करता है। इसके अलावा, भारत का ऑनलाइन धन प्रबंधन बाजार 2019 में 45 बिलियन डॉलर से बढ़कर 2025 तक 170 बिलियन डॉलर होने की उम्मीद है, जो 20% सीएजीआर का प्रतिनिधित्व करता है।

अंत में, भारत का ऑनलाइन ब्रोकिंग बाजार 2019 में 2 बिलियन डॉलर से बढ़कर 2025 तक 18 बिलियन डॉलर होने का अनुमान है, जो 35% सीएजीआर का प्रतिनिधित्व करता है। जेएफएस इन विकास अवसरों का लाभ उठाने और भारत में डिजिटल वित्तीय सेवा क्षेत्र में अग्रणी खिलाड़ी बनने के लिए अच्छी स्थिति में है। RIL और Jio के साथ जुड़ाव के कारण कंपनी की भारतीय उपभोक्ताओं के बीच मजबूत ब्रांड पहचान और विश्वास है।

कंपनी के पास अपने डिजिटल प्लेटफ़ॉर्म से डेटा और एनालिटिक्स के एक बड़े पूल तक पहुंच है जो उसे अपने ग्राहकों को अनुकूलित और वैयक्तिकृत वित्तीय समाधान प्रदान करने में मदद कर सकती है।

जेएफएस के पास एक मजबूत प्रौद्योगिकी बुनियादी ढांचा और नवाचार क्षमताएं भी हैं जो इसे नए उत्पादों और सेवाओं को जल्दी और कुशलता से लॉन्च करने में सक्षम बना सकती हैं। कंपनी के पास एक विविध राजस्व धारा और कम लागत वाला ऑपरेटिंग मॉडल भी है जो लाभप्रदता और स्केलेबिलिटी हासिल करने में मदद कर सकता है।

आज ही अपना फ्री डीमैट एकाउंट खोलें

Jio Financial Services Share Price Target 2030 India

YearMinimum Price TargetMaximum Price TargetAverage Price Target
2023250300275
2024275350313
2025300400350
2026340421381
2027365450408
2028400550475
2029500600550
2030540680610
2031625750688
2032700850775

Jio Financial Services Share Price Target 2030

जब रिलायंस इंडस्ट्रीज कंपनी ने जियो के जरिए दूरसंचार क्षेत्र में कदम रखा तो क्या हुआ, यह तो सभी जानते हैं कि दूरसंचार क्षेत्र में वोडाफोन, आइडिया, बीएसएनएल जैसी कंपनियां जिनका प्रबंधन, सेवा खराब थी या कर्ज में डूबी थीं, उन्होंने कंपनी को पूरी तरह से बर्बाद कर दिया, लेकिन जिनका प्रबंधन अच्छा है, उन्होंने ही कंपनी को बर्बाद कर दिया। इस मार्केट में टिक सकती है, एयरटेल को उतना नुकसान नहीं हुआ है.

शेयर बाजार के वित्तीय सेवा क्षेत्र में कंपनी के प्रवेश से इस क्षेत्र में आने वाली कंपनियों को भारी नुकसान होने वाला है, जिसके कारण जियो फाइनेंस सर्विसेज का पहला लक्ष्य 2030 तक बढ़ जाएगा। 2000 रुपये और दूसरा लक्ष्य 2300 रुपये तक जा सकता है।

Jio Financial Services Share की ताकत

यह कंपनी भारत की सबसे बड़ी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज का हिस्सा है।
कंपनी का बिजनेस सेगमेंट भविष्य पर आधारित है।
कंपनी का बिग रॉक के साथ संयुक्त उद्यम समझौता है।

Jio Financial Services Share की कमजोरी

वित्त क्षेत्र की प्रतिद्वंद्वी कंपनियों का वार्षिक राजस्व जियो फाइनेंशियल सर्विसेज कंपनी से अधिक है।
कंपनी के पास पहले से ही फाइनेंस सेक्टर में बड़े नाम हैं।

Jio Financial Services Share का जोखिम

jio वित्तीय सेवा कंपनी का जोखिम कारक यह है कि प्रतिस्पर्धी कंपनियों में बजाज फाइनेंस, SBFC फाइनेंस, श्रीराम फाइनेंस, मुथूट फाइनेंस और पीरामल एंटरप्राइजेज जैसे बड़े नाम शामिल हैं, जो लंबे समय से बाजार में अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं, इसलिए यह कंपनी कठिन है। टक्कर हो सकती है.

जियो फाइनेंशियल सर्विसेज स्टॉक में निवेश के लिए मेरी राय यह है कि यह कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज का हिस्सा है, इसलिए इसमें भविष्य में विकास की उच्च संभावनाएं हैं, इसलिए आप यहां से पहले भी अच्छा रिटर्न प्राप्त कर सकते हैं। निवेश अगर आप विशेषज्ञ की सलाह या छोटी रकम से निवेश करने की योजना बना रहे हैं तो यहां भी आपको अच्छा रिटर्न मिल सकता है।

JIO फाइनेंशियल सर्विसेज शेयर प्राइस टारगेट 2023, 2024, 2025, 2030 पर अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

2023 के लिए JIO फाइनेंशियल सर्विसेज का शेयर प्राइस टारगेट क्या है? ( What is JIO Financial Services Share Price Target for 2023? )
2023 में JIO फाइनेंशियल सर्विसेज का लक्ष्य मूल्य रुपये है। 275 प्रति शेयर।

2024 के लिए JIO फाइनेंशियल सर्विसेज का शेयर प्राइस टारगेट क्या है? ( What is JIO Financial Services Share Price Target for 2024? )
2024 में JIO फाइनेंशियल सर्विसेज का लक्ष्य मूल्य रु. 313 प्रति शेयर।

2025 के लिए JIO फाइनेंशियल सर्विसेज शेयर प्राइस टारगेट क्या है? ( What is JIO Financial Services Share Price Target for 2025? )
2025 में JIO फाइनेंशियल सर्विसेज का लक्ष्य मूल्य रु. 350 प्रति शेयर.

2030 के लिए JIO फाइनेंशियल सर्विसेज शेयर प्राइस टारगेट क्या है? ( What is JIO Financial Services Share Price Target for 2030? )
2030 में JIO फाइनेंशियल सर्विसेज का लक्ष्य मूल्य रु. 610 प्रति शेयर.

ये भी पढ़ें

Rate this post